विदेश

US Elections 2020: कमला हैरिस के समर्थकों ने शुरू किया कैंपेन, नाम है- अमेरिका में खिला कमल

कमला हैरिस के उम्मीदवार चुने जाने से भारतीय-अमेरिकी समुदाय में ख़ुशी की लहर.

US Elections 2020 में डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बिडेन (Joe Bidens) ने कमला हैरिस (Kamala Harriss) को उपराष्ट्रपति पद के लिए अपना उम्मीदवार बनाया है. कमला हैरिस को उमीदवार बनाए जाएं की भारतीय- अमेरिकी समुदाय ने काफी प्रशंसा की है. पेप्सिको चीफ रहीं इंद्रा नूयी (Indra Nooyi) ने बिडेन के इस फैलने को ‘बेहद अच्छा’ बताया.

वाशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव (US Elections 2020) में डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बिडेन (Joe Bidens) ने कमला हैरिस (Kamala Harriss) को उपराष्ट्रपति पद के लिए अपना उम्मीदवार बनाया है. कमला हैरिस को उमीदवार बनाए जाएं की भारतीय- अमेरिकी समुदाय ने काफी प्रशंसा की है. पेप्सिको चीफ रहीं इंद्रा नूयी (Indra Nooyi) ने बिडेन के इस फैलने को ‘बेहद अच्छा’ बताया. सोशल मीडिया पर भी कमला के समर्थन में भारतीय-अमेरिकी समुदाय एकजुट नज़र आया है और उनसे जीतने के बाद समुदाय के हितों पर ध्यान देने का आग्रह किया जा रहा है. कमला के समर्थकों ने उनके लिए कैंपेन भी शुरू कर दिया है जिसका नाम- ‘अमेरिका में भी खिला कमल’ (America Mein Khila Kamal) रखा गया है.

इंद्रा नूयी ने ट्वीट कर कहा- ये देश के लिए एक बेहद अच्छा चयन हैं. बता दें कि कमला हैरिस राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी की दौड़ में भी थीं लेकिन कम लोकप्रियता के कारण उन्होंने ये कैंपेन बीच में ही छोड़ दिया था. इंडियास्पोरा के फाउंडर मिस्टर रंगास्वामी ने कहा कि ये भारतीय-अमेरिकी अमुदाय के लिए एक गौरव का पल है, अमेरिका में अब ये समुदाय मुख्यधारा का अटूट हिस्सा बन गया है. इस निर्णय का स्वागत करते हुए एक भारतीय-अमेरिकी एडवोकेसी ग्रुप और पॉलिटिकल एक्शन कमेटी ने कमला हैरिस के कैंपेन के लिए 10 मिलियन डॉलर जुटाने की बात कही है. इम्पेक्ट के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर मील मखीजा ने कहा की कमला हैरिस की कहानी बदलाव की कहानी है, अमेरिका की सफलता की कहानी है. उनकी उम्मीदवारी ऐतिहासिक है और लोगों को इससे प्रेरणा मिलेगी. ये प्रेरणा न सिर्फ ब्लैक अमेरिकन बल्कि करोड़ों एशियन- अमेरिकन वोटर्स के लिए भी है, जो कि देश का सबसे तेजी से बढ़ रहा वोटिंग ब्लॉक भी है.

कमला हैरिस हैं इतिहास की तीसरी महिला कैंडिडेटऐसा पहली बार हुआ है, जब कोई अश्वेत महिला देश की किसी बड़ी पार्टी की ओर से उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनी हैं. यदि हैरिस उपराष्ट्रपति बन जाती हैं, तो वह इस पद पर काबिज होने वाली अमेरिका की पहली महिला होंगी और देश की पहली भारतीय-अमेरिकी और अफ्रीकी उपराष्ट्रपति होंगी. हैरिस (55) के पिता अफ्रीकी और मां भारतीय हैं. वह अमेरिका के कैलिफोर्निया की सीनेटर हैं. पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा हैरिस को अकसर अपना आइडियल बताती हैं. बाइडेन (77) ने मंगलवार दोपहर एक लिखित संदेश में इसकी घोषणा कर कई दिनों से जारी अटकलों का समाप्त किया. उन्होंने ‘डेमोक्रेटिक नेशनल कन्वेंशन’ से पहले यह घोषणा की है, जिसमें तीन नवंबर को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के लिए बाइडेन को औपचारिक तौर पर नामित किया जाएगा.

बाइडेन ने संदेश में कहा, ‘जो बाइडेन यानी मैंने कमला हैरिस को उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार चुना है. आपके साथ मिलकर हम ट्रम्प (अमेरिका के राष्ट्रपति) को मात देंगे. टीम में उनका स्वागत कीजिए.’ बाइडेन ने कहा कि देश को वापस पटरी पर लाने में वह सर्वश्रेष्ठ साझीदार होंगी. बाइडेन के चुनाव प्रचार अभियान ने कहा, ‘जो बाइडेन देश को आगे बढ़ाने के लिए राष्ट्र को फिर से एकजुट करने के लिए चुनाव लड़ रहे हैं. बाइडेन को उप राष्ट्रपति पद की अहमियत के बारे में अच्छी तरह से पता है और उन्हें विश्वास है कि देश को पटरी पर वापस लाने में कमला हैरिस सर्वश्रेष्ठ साझीदार होंगी. हैरिस ने बाद में ट्वीट किया कि बाइडेन ‘अमेरिकी लोगों को एकजुट कर सकते हैं क्योंकि उन्होंने जीवन भर हमारे लिए लड़ाई लड़ी है. राष्ट्रपति के तौर पर वह आदर्शों पर खरे उतरेंगे.’ उन्होंने कहा, ‘मैं हमारी पार्टी की उप राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार बन उनके साथ जुड़ कर गर्व महसूस कर रही हूं और उन्हें राष्ट्रपति बनाने के लिए हर संभव प्रयास करूंगी.’




Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close