मध्य प्रदेश

UPSC Result 2019: भोपाल के होनहारों का कमाल, मिला 8वां और 14वां रैंक, पढ़ें Success Story

एमपी के यूपीएससी टॉपर्स ने सफलता की कहानी शेयर की है.

UPSC Civil Services Final Result 2019:अभिषेक को चौथे प्रयास में 8वां रैंक (Rank) मिला तो वहीं पांचवें अटेम्प्ट में अनमोल जैन ने 14वां रैंक हासिल किया है. दोनों ने अपने मेहनत के पीछे की स्टोरी शेयर (Sucess Story) की है. 

भोपाल. संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) ने मंगलवार यानी 4 अगस्‍त को यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2019 का अंतिम परिणाम जारी किया. यूपीएससी परीक्षा में भोपाल (Bhopal) के अनमोल जैन ने ऑल इंडिया में 14वीं रैंक हासिल किया है. पांचवें अटेम्प्ट में अनमोल जैन को ये सफलता मिली है. पिछले चार अटेम्प्ट में अनमोल जैन इंटरव्यू तक पहुंचते थे. इस बार पांचवें अटेम्प्ट में अनमोल ने अपनी कमजोरियों पर फोकस किया और यूपीएससी में 14वी रैंक हासिल कर दिखाया. वहीं, भोपाल के ही अभिषेक सराफ ने यूपीएससी में ऑल इंडिया (All India Rank) में 8वी रैंक हासिल की है. अभिषेक को चौथे प्रयास में ये बड़ी सफलता मिली है.

अनमोल ने कोचिंग की जगह की सेल्फ स्टडी

यूपीएससी में ऑल इंडिया में 14वी रैंक लाने वाले अनमोल जैन ने कोचिंग की जगह सेल्फ स्टडी पर फोकस किया. अनमोल का कहना है कि सेल्फ स्टडी सही है. कोचिंग लेने की कोई जरूरत नहीं है. सारा स्टडी मटेरियल ऑनलाइन उपलब्ध है. चार बार से इंटरव्यू तक तो पहुंच ही रहा था. तो इंटरव्यू क्वालीफाई करने से मोटिवेशन तो मिलता ही था. 5 या 6नंबर से ही रह जाता था. इस बार किस्मत अच्छी रही कि मैं यूपीएससी क्लियर कर सका. अनमोल का कहना है कि जनरल स्टडी में नंबर कम रह जाते थे. बाकी जनरल स्टडीज पर फोकस रहा. यूपीएससी क्लियर करने इस बार टेस्ट सीरीज पर फोकस रहा. पिछली बार जिन दोस्तों का सिलेक्शन हुआ था उन सभी से मदद ली. फिजिक्स में स्पेसिफिक प्रिपरेशन में टेस्ट सीरीज में फोकस कर ज्यादा समय स्पेंड किया और यही वजह रही कि फिजिक्स में ज्यादा स्कोर किया.

कड़ी मेहनत से निकला पांचवां अटेम्प्ट यूपीएससी क्लियर करने वाले अनमोल जैन का कहना है कि 4 बार से इंटरव्यू में रह जाने से थोड़ी निराशा जरूर होती थी, लेकिन माता-पिता और फ्रेंड्स के प्रोत्साहन से ही यूपीएससी क्लियर कर सका हूं. यूपीएससी क्लियर करने के लिए बहुत कड़ी मेहनत की जरूरत होती है. कड़ी मेहनत से पीछे ना हटे.

ये भी पढ़ें: Unlock-3.0: गुरुग्राम में कल से खुलेंगे जिम और योगा सेंटर, यहां पढ़ें सारे नए नियम

 फ्रेंड्स और फैमिली का सपोर्ट रहा

अनमोल का कहना है कि चार प्रयासों में सफलता मिलने से निराशा तो जरूर होती थी लेकिन माता-पिता और फ्रेंड्स के प्रोत्साहन से ही पांचवें प्रयास में सफलता हासिल कर सका हूं. लकी रहा कि पांचवा अटेम्प्ट देने का मौका मिला. तैयारी करने में बहुत कड़ी मेहनत की जरूरत है. कड़ी मेहनत से पीछे ना हटे. घंटों में बंधकर पढ़ाई नहीं की, पर हफ्ते में चार से पांच दिन तक लगातार तैयारी की. तैयारी के लिए सेल्फ डिसिप्लिन बहुत जरूरी है. तैयारी के साथ  हॉबीज पर भी फोकस था. दोस्तों के साथ खेलने के लिए समय निकाला.




Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close