विदेश

Qassem Suleimani Funeral : सुलेमानी के जनाजे में भगदड़, दर्जनों के मरने की आशंका, 48 घायल

तेहरान। दक्षिण-पूर्वी ईरानी शहर करमान में मची भगदड़ में दर्जनों लोग मारे गए हैं। सरकारी मीडिया के हवाले से यह जानकारी सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि हजारों की संख्या में लोग सैन्य कमांडर कासिम सुलेमानी को दफनाने के लिए जमा हुए थे। स्थानीय टीवी रिपोर्टों में कहा गया है कि अंतिम संस्कार के दौरान मची भगड़द में 35 लोग मारे गए और अन्य 48 घायल हो गए। हालांकि, हताहतों की संख्या में अभी और इजाफा हो सकता है।

एक वीडियो में देखा जा सकता है कि कई लोग जमीन पर पड़े हैं, जबकि अन्य ने उनकी छाती को दबाकर सीपीआर देने की कोशिश कर रहे हैं। जमीन पर मौजूद कुछ लोगों के चेहरे जैकेट या स्कार्फ से ढंके हुए थे। बताते चलें कि शुक्रवार को इराक में अमेरिकी ड्रोन हमले में कासिम की हत्या कर दी गई थी।

अयातुल्ला रुहोल्लाह खुमैनी के 1989 के अंतिम संस्कार के लिए निकली भीड़ के बाद आज तेहरान की सड़कों पर इतनी तादात में भीड़ उतरी थी। सोमवार को राजधानी तेहरान में हुए जनाजे के जुलूस में 10 लाख से ज्यादा लोग जमा हुए थे। रेवोलुशनरी गार्ड्स के विदेशों में कार्रवाई को अंजाम देने वाले कुद्स बल के कमांडर को विदाई देने के लिए बगदाद, तेहरान, कोम, मशहद और अहवाज में लाखों की तादात में लोग सड़कों पर उतरे थे।

जनरल कासिम सुलेमानी ईरान में काफी लोकप्रिय थे और उनके जनाजे में शामिल लोगों में ज्यादातर युवा हैं।ईरान की दुखी जनता ‘डेथ टू ट्रंप’ के नारे लगा रही थी। रेवोलुशनरी गार्ड्स के कमांडर मेजर जनरल होसैन सलामी ने कहा- शहीद कासिम सुलेमानी मरने के बाद अब और भी ज्यादा शक्तिशाली हो गए हैं। उन्होंने कहा कि दुश्मन ने कासिम को अन्यायपूर्वक मार डाला।

ईरान में सुलेमानी के जनाजे की फोटो टि्वटर पर शेयर करते हुए विदेश मंत्री जावेद जरीफ ने कहा- क्‍या डोनाल्‍ड ट्रंप ने अपनी पूरी जिंदगी में इतनी भीड़ देखी होगी। क्या तुम अब भी क्षेत्र के बारे में जानकारी के लिए अपने जोकरों पर निर्भर रहोगे? क्या तुम्हें अभी भी लगता है कि तुम इस महान देश और इसके लोगों को तोड़ सकते हो? उन्‍होंने यह भी कहा, पश्चिमी एशिया से अमेरिका की शैतानी मौजूदगी का खात्मा शुरू हो गया है.

Related Articles

Back to top button
Close