मध्य प्रदेश

MP में किल कोरोना अभियान पार्ट 2 चार मंत्रियों की निगहबानी में होगा शुरू

1 अगस्त से किल कोरोना अभियान पार्ट 2 शुरू होगा. (सांकेतिक तस्वीर)

किल कोरोना अभियान की मॉनिटरिंग के लिए सरकार ने चार मंत्रियों की एक समिति भी बनाई है. इसमें गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा, नगरी प्रशासन मंत्री भूपेंद्र सिंह, स्वास्थ्य मंत्री प्रभु राम चौधरी और चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग हैं.

भोपाल. कोरोना (Corona) के खिलाफ अभियान तेज करते हुए मध्य प्रदेश सरकार (MP Government) ने किल कोरोना अभियान फिर से शुरू करने का फैसला किया है. सरकार ने तय किया है कि प्रदेश में 1 अगस्त से 14 अगस्त के बीच किल कोरोना अभियान पार्ट 2 चलाया जाएगा. इस फैसले के बारे में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने बताया कि सरकार ने 1 अगस्त से किल कोरोना अभियान पार्ट 2 चलाने का फैसला किया है. इस अभियान की निगरानी के लिए सरकार ने चार मंत्रियों की एक समिति भी बनाई है. इसमें गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा, नगरी प्रशासन मंत्री भूपेंद्र सिंह (Bhupendra Singh), स्वास्थ्य मंत्री प्रभु राम चौधरी (Prabhu Ram Chaudhary) और चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग (Vishvas Sarang) को शामिल किया गया है. यह समिति प्रदेश भर में चलने वाले किल कोरोना अभियान की मॉनिटरिंग करेगी.

जागरूकता अभियान भी चलेगा

किल कोरोना अभियान के तहत ही जिलों में नगर निकायों की ओर से जागरूकता अभियान भी चलाए जाएंगे. नगरी प्रशासन मंत्री भूपेंद्र सिंह ने इसके बारे में बताया कि सभी नगर निगम और नगर पालिकाओं के अधिकारियों को इस संबंध में निर्देशित कर दिया गया है. किल कोरोना अभियान की टैगलाइन ‘संकल्प की चेन जोड़ो, कोरोना की चेन तोड़ो’ दी गई है.

जुर्माने के साथ 2 मास्क फ्रीकिल कोरोना अभियान पार्ट 2 के तहत नगरीय निकायों में जागरूकता अभियान चलाया जाएगा. सरकार ने यह तय किया है कि मास्क न लगाने वाले और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने वाले लोगों के खिलाफ जुर्माने की कार्रवाई तो की ही जाएगी, लेकिन उन्हें जागरूक करने के लिए जुर्माने के दौरान ही प्रशासन की ओर से उन्हें दो मास्क मुफ्त दिए जाएंगे ताकि अगली बार के लिए वह सजग रहें और घर से बाहर निकलने के दौरान मास्क का इस्तेमाल जरूर करें.

लॉकडाउन के लिए भोपाल से मिलेगी अनुमति

लॉकडाउन को लेकर जारी अटकलों को साफ करते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि लॉकडाउन को बढ़ाने का अभी कोई फैसला नहीं किया गया है. यहां तक कि अब जिलों में लॉकडाउन क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप नहीं लगा सकेंगे. अगर किसी जिले में या शहर में लॉकडाउन की जरूरत महसूस की जाती है तो उसका प्रस्ताव राज्यस्तर पर पहले भोपाल भेजा जाएगा और यहां से मंजूरी के बाद ही लॉकडाउन को लागू किया जाएगा.




Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close