उज्जैन न्यूज़देशप्रशासनिक

मंडी टैक्स कम कराने के लिए मंडी बंद

500 से ज्यादा व्यापारियों ने काम बंद किया व्यापारियों को मंडी के वीरान होने का डर

केंद्र सरकार के आदर्श मंडी एक्ट के विरोध में चिमनगंज कृषि उपज मंडी के व्यापारी हड़ताल परचे गए। उनकी मांग थी कि प्रदेश सरकार मंडी टैक्स में 50 पैसे की कमी करे, ताकि मंडी को तबाह होने से बचाया जा सके।

केंद्र सरकार ने हाल ही में मॉडल मंडी कानून पारित किया है। इसके मुताबिक अब मंडी क्षेत्र के बाहर भी उपज की खरीदी-बिक्री की जा सकती है। इस एक्ट का विरोध व्यापारियों के साथ कर्मचारी भी कर रहे हैँ। सबसे बड़ी दिक्कत यह है कि इससे मंडियों का कारोबार खत्म होने का डर है। इसी से घबराए व्यापारी मंडी टैक्स में कमी की मांग कर रहे हैँ। अभी सरकार 1.70 फीसदी मंडी टैक्स उपज की खरीदी-बिक्री पर लेती है। व्यापारी इसमें 50 पैसे फीसदी की छूट चाहते हैं। ताकि वह कारपोरेट के सामने व्यापार में टिक सकें।

Related Articles

Back to top button
Close