मध्य प्रदेश

Lockdown में पॉकेट-मनी बंद हुई तो छात्रों ने बना ली गैंग, घर के सामने से उड़ा लेते थे गाड़ी

भोपाल में पुलिस ने गाड़ी चोरी करने वाले नाबालिग लड़कों को गिरफ्तार किया है. (तस्वीर पुलिस मुख्यालय की)

लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान गैंग बनाकर चोरी और लूट की वारदातों को अंजाम देने वाले स्कूलों छात्रों को भोपाल पुलिस (Bhopal Police) ने गिरफ्तार कर उनके पास से चुराई गई गाड़ी और अन्य सामान बरामद किया.

भोपाल. कोरोना वायरस (COVID-19) की वजह से लागू लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान अजब-गजब मामले सामने आ रहे हैं. मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal) में स्कूली छात्रों द्वारा लॉकडाउन के दौरान पॉकेट-मनी नहीं मिलने की वजह से एक गैंग बनाने का मामला सामने आया है. इस गैंग ने शहर में लूट और चोरी की वारदातों (Crime in MP) को अंजाम दिया. पुलिस ने इन छात्रों को गिरफ्तार कर उनके पास से चोरी की गाड़ियां और लूट का माल बरामद किया है.

दरअसल, बीते दिनों चिकलोद रोङ जहांगीराबाद निवासी रिजवान खान ने थाना जहांगीराबाद में शिकायत दर्ज कराई थी कि घर के सामने खड़ी उनकी एक्टिवा चोरी हो गई है. इस शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात लोगों पर एफआईआर दर्ज की. जांच के दौरान पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली ‍कि डी मार्ट के पास एक्टिवा वाहन लेकर दो व्यक्ति खड़े हैं. इस सूचना पर पुलिस ने घेराबंदी कर दोनों को पकड़ लिया. दोनों नाबालिग लड़के बरखेड़ी जहांगीराबाद के रहने वाले हैं.

पुलिस पूछताछ में इन लड़कों ने बताया कि चिकलोद रोड से काली एक्टिवा चोरी करने के साथ ही उन लोगों ने एमपी नगर में एक महिला का पर्स भी छीना था. पर्स में दो सोने के टॉप्स, एक मंगल सूत्र का पेंडल और चेन थी. पूछताछ में लड़कों ने कहा कि ये लोग लूट अपने पिता के दोस्त की पल्सर से लूट करते थे. इनकी निशानदेही पर उनके घर से लूटा गया सामान, 2 सोने के टॉप्स, एक मंगलसूत्र का पेंडल, चेन और बाइक बरामद की गई है. दोनों नाबालिगों ने दो अन्य साथियों की मदद से 4 गाड़ियां चोरी की थीं. पुलिस ने सभी वाहन जब्त कर लिए हैं.

लॉकडाउन में पॉकेट-मनी न मिलने पर बने अपराधीपुलिस के मुताबिक जहांगीराबाद में रहने वाला एक नाबालिग दसवीं कक्षा में है, वहीं दूसरा नौवीं में पढ़ता है. जहांगीराबाद में रहने वाले दोनों नाबालिग लड़कों ने पुलिस को बताया कि लॉकडाउन के दौरान घर से पॉकेट-मनी मिलना बंद हो गई थी. ऐसे में महंगे शौक पूरे करने के लिए लड़कों ने लूट और चोरी की वारदातों को अंजाम देना शुरू कर दिया. दो साथियों के साथ मिलकर गैंग बनाई और फरवरी महीने से ही जरायम की दुनिया में उतर गए.




Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close