स्पोर्ट्स

ICC T20 विश्वकप 2007 की खिताबी जीत में रोहित शर्मा की इस पारी को काफी अहम मानते हैं युवराज सिंह

Image Source : GETTY IMAGES
Yuvraj Singh, Rohit Sharma and RP Singh

नई दिल्ली| भारतीय टीम के पूर्व हरफनमौला खिलाड़ी युवराज सिंह ने कहा है कि 2007 टी-20 विश्व कप के फाइनल में रोहित शर्मा की पारी काफी विशेष थी, जिसे अधिकतर लोग भूल जाते हैं। भारत ने 24 सितंबर 2007 को जोहान्सबर्ग में पाकिस्तान को फाइनल में मात दे पहले टी-20 विश्व कप को अपने नाम किया था।

इस मैच में गौतम गंभीर ने 54 गेंदों पर 75 रनों की पारी खेली थी। वहीं इरफान पठान और आरपी सिंह ने तीन-तीन विकेट लिए थे।

युवराज ने स्पोर्ट्सकीड़ा से बात करते हुए कहा, “गौतम और इरफान का फाइनल शानदार रहा था। इसलिए मुझे लगता है कि वह संयुक्त प्रयास था। हां, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैंने दो अहम पारियां खेली थीं, जिससे हमें आगे आने में मदद मिली थी।”

युवराज ने कहा कि लोग हमेशा फाइनल में रोहित शर्मा की पारी को भूल जाते हैं। उन्होंने 16 गेंदों पर 30 रन बनाए थे और भारत के स्कोर को 150 के पार ले गए थे। अपनी पारी में उन्होंने कुछ चौके और एक छक्का मारा था।

युवराज ने कहा, “हर कोई मेरी और गौतम की बात करता है लेकिन कोई भी रोहित की 18,20 गेंदों में बनाए गए उन 36 (रोहित ने उस मैच में 16 गेंदों पर 30 रन बनाए थे) रनों को याद नहीं करता जिसने हमें 160 (पांच विकेट पर 157) तक पहुंचाया।”

ये भी पढ़े : वेस्टइंडीज के कोच फिल सिमंस ने माना, ब्रॉड-एंडरसन की जोड़ी के सामने बल्लेबाजी करना है मुश्किल

उन्होंने कहा, “वह टूर्नामेंट की सबसे अहम पारी थी। इरफान ने तीन विकेट लिए थे और मैन ऑफ द मैच रहे थे लेकिन मुझे लगता है कि फाइनल में रोहित की पारी विशेष थी।”

कोरोना से जंग : Full Coverage




Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close