मध्य प्रदेश

ATM ब्लास्ट का कोरोना पॉजिटिव आरोपी देवेन्द्र पटेल दमोह ज़िला अस्पताल से फरार

गिरोह के सदस्य डेटोनेटर से एटीएम को ब्लास्ट करके उड़ाते थे

पुलिस (police) ने हाल ही में एटीएम (ATM) में ब्लास्ट कर लूट की घटनाओं को अंजाम देने वाले देवेन्द्र सहित उसके गिरोह के छह आरोपियों को गिरफ्तार किया था.

धर्मेश पांडेय

दमोह. मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में एटीएम ब्लास्ट (ATM Blast) लूट (LOOT) के मामलों का सरगना देवेन्द्र पटेल जिला हॉस्पिटल कोविड-19 सेंटर से फरार हो गया. देवेन्द्र जबलपुर, कटनी, पन्ना और दमोह जिले में एटीएम में ब्लास्ट कर लूट की 7 घटनाओं का आरोपी है. उसे 26 जुलाई को दमोह पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेजा था. 4 अगस्त को उसकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उसे जिला अस्पताल कोविड-19 केयर सेंटर में भर्ती कराया गया था. पुलिस अधीक्षक ने  देवेन्द्र की गिरफ्तारी पर 10 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है.

सिविल इंजीनियर देवेन्द्र पटेल को दमोह जिला अस्पताल के कोविड केयर सेंटर की दूसरी मंजिल पर सुरक्षा व्यवस्था में भर्ती कराया गया था. वो आज सुबह दोनों हथकड़ियां खोल कर खिड़की से निकलकर छत के रास्ते से फरार हो गया. जिला पुलिस में स्टाफ की कमी के कारण जेल पुलिस को ड्यूटी पर तैनात किया गया था. ड्यूटी पर तैनात बजरंग सिंह प्रहरी ने हटा उप जेल अधीक्षक के के कोरी को फोन पर सूचना दी कि अस्पताल में भर्ती आरोपी देवेंद्र पटेल जिला अस्पताल कोविड-19 सेंटर से फरार हो गया है. उसके बाद जेल और पुलिस प्रशासन हरकत में आया और लगातार जिले की नाकाबंदी कर आरोपी की तलाश शुरू की.

शातिर गिरोह
पुलिस ने हाल ही में एटीएम में ब्लास्ट कर लूट की घटनाओं को अंजाम देने वाले देवेन्द्र सहित उसके गिरोह के छह आरोपियों को गिरफ्तार किया था. ये बदमाश तीन बाइक पर सवार होकर पहुंचते थे. गिरोह के सदस्य डेटोनेटर से एटीएम को ब्लास्ट करके उड़ाते थे. गिरोह के लोग जबलपुर, कटनी, पन्ना और दमोह में सक्रिय था. ये डेटोनेटर से एटीएम में ब्लॉस्ट कर कैश उड़ाकर फरार हो जाते थे. आरोपी इतने शातिर थे कि पहले एटीएम को डेटोनेटर लगा कर उड़ाते थे. इस दौरान अगर कोई आता था तो उसे कट्टे की नोंक पर वहीं रोक देते थे. इस गिरोह की पुलिस को कई दिन से तलाश थी. गिरोह का सरगना देवेन्द्र 28 साल का है और B.E पास है.




Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close