उज्जैन न्यूज़देशपर्यटनमध्य प्रदेशशिक्षा जगतसामाजिक

हर साल दो दिन यानी 21 मार्च और 23 सितंबर को दिन.रात बराबर होते हैं

23 सितंबर का दिन खगोलप्रेमियों के लिए विशेष हे। आज दिन रात और दिन बराबर होंगे। 23 सितंबर को सूर्य विषुवत रेखा पर लंबवत रहता हे जिसके चलते रात . दिन बराबर होते हैं। दिन बारह घंटे का होता हे तो राते भी बारह घंटे की होगी। इसके बाद दिन क्रमशः छोटे होने लगेंगे।

23 सितंबर उज्जैन के जीवाजी वेधशाला में शंकु यंत्र और नाड़ी वलय यंत्र के माध्यम से यह प्रत्यक्ष रूप से खगोल्प्रेमियो ने वलय यंत्र के माध्यम से खगोलीय घटना देखि जहा बताया गया की 22 सितम्बर को यंत्र का उत्तरी हिस्सा प्रकाश से प्रकाशित रहा। वहीं आज उत्तरी और दक्षिणी किसी भी हिस्से में धूप नहीं होगी। 24 सितंबर से दक्षिण वाला हिस्सा प्रकाशित होना शुरू हो जाएगा। इस प्रकार अगले छः माह दक्षिण वाला हिस्सा प्रकाशित रहेगा और कील की परछाई से समय ज्ञात किया जा सकेगा।
जीवाजी वेधशाला अधीक्षक डॉ राजेंद्रप्रकाश गुप्त ने बताया कि सूर्य का उत्तरी गोलार्द्घ से दक्षिणी गोलार्द्घ पर प्रवेश होने से दिन छोटे और रातें बड़ी होने लगेंगी। इस प्रकार क्रमानुसार धीरे.धीरे 22 दिसंबर को सबसे छोटा दिन होगा अर्थात् दिन साढ़े दस घंटे का तो रात साढ़े तेरह घंटे की होगी।
23 सितंबर को सूर्य सायन तुला राशि में प्रवेश करते हुए पृथ्वी के दक्षिणी गोलार्ध में प्रवेश करेगा। दक्षिणी ध्रुव पर सूर्यास्त होगा। पृथ्वी के उत्तरी ध्रुव एवं दक्षिणी ध्रुव पर 6 माह का दिन व 6 माह की रात्रि होती है जिसे भारतीय शास्त्र में देव अहोरात्र कहते हैं। भारतीय कालगणना में इसका बड़ा महत्व है।
सूर्य सायन तुला राशि में पहुँचते ही दक्षिणी ध्रुव पर दिन आरंभ हो जाता है। आगामी 6 माह तक दिन बना रहता है तथा उत्तरी ध्रुव पर सूर्यास्त के साथ रात्रि प्रारंभ हो जाती है।
इसके विपरीत 21.22 मार्च को सूर्य सायन मेष राशि में प्रवेश करते ही उत्तरी ध्रुव पर दिन आरंभ हो जाता है तथा दक्षिणी ध्रुव पर सूर्यास्त होकर रात्रि का आरंभ हो जाता है। इसी दौरान कर्क रेखा तथा मकर रेखा के मध्य पृथ्वी के विषुवत वृत्त के दोनों ओर बनने वाली पट्टी पर आए स्थानों पर 23 सितंबर एवं 22 मार्च को वर्ष में दो बार दिन.रात बराबर होंगे। इसे विषुव दिन कहा जाता है।यह इसलिए ऐसा होता क्‍योंकि 21 जून को दक्षिणी ध्रुव सूर्य से सर्वाधिक दूर रहता है इसलिए इस दिन सबसे बड़ा दिन होता है…..

Related Articles

Back to top button
Close