मध्य प्रदेश

ये हैं MP के दस बेस्ट ऑफिसर्स, अब केंद्र ने दिया एक्सीलेंस इन इंवेस्टीगेशन मेडल

[ad_1]

ये हैं MP के दस बेस्ट ऑफिसर्स, अब केंद्र ने दिया एक्सीलेंस इन इंवेस्टीगेशन मेडल

एमपी के ऑफिसर्स को अब एक अलग पहचान मिलेगी.

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के 10 ऑफिसर को यूनियन होम मिनिस्टर्स मैडल फाॅर एक्सीलेंस इन इंवेस्टीगेशन मेडल (Medal) से नवाजा जाएगा. सभी को उत्कृष्ट विवेचना के लिए सम्मानित किया जाएगा.

भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में टॉप लेवल के बेस्ट इंवेस्टिगेशन ऑफिसर (Investment Officer) मौजूद है. इन ऑफिसर को अब अलग पहचान मिली है. इन्हें एक्सीलेंस इंवेस्टीगेशन के लिए साल 2020 के ‘यूनियन होम मिनिस्टर्स मैडल फाॅर एक्सीलेंस इन इंवेस्टीगेशन’  (Union Home Ministers Medal for Excellence in Investigation) अवॉर्ड दिया गया है. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मेडल पाने वाले अधिकारियों की पूरी सूची जारी की है. इस लिस्ट के अनुसार मध्य प्रदेश के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  हंसराज सिंह, एसडीओपी पुन्नूसिंह परस्ते, निरीक्षक  सुनील शर्मा, संजीव कुमार चौकसे, प्रवीण कुमार कुमरे, गोपाल घासले,अरविंद सिंह तोमर, उपनिरीक्षक केवल सिंह परते,  प्रीति पाटिल और दीप्ति मिश्रा को शामिल किया गया है. इन सभी को उत्कृष्ट विवेचना के लिए यह मैडल प्रदान किया गया है. सभी अफसरों को मेडल से सम्मानित किया गया है. लेकिन औपचारिक रूप से आने वाले दिनों में एक कार्यक्रम में सभी को बुलाकर मेडल दिए जाएंगे.

2018 में हुई थी मेडल की स्थापना

इस मेडल की स्थापना 2018 में विवेचना में उच्च व्यावसायिक मापदण्डों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से की गयी है. इस साल पूरे देश में 121 पुलिस अधिकारियों को इससे सम्मानित किया गया है. इनमें सर्वाधिक 15 अधिकारी सीबीआई के हैं.  मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र के दस-दस अधिकारियों को यह पदक प्राप्त हुआ है, जिससे राज्यों में इन राज्य के सबसे ज्यादा अधिकारी हैं.

भोपाल के संजीव ने दिलाई थी फांसीराजधानी भोपाल के बागसेवनिया थाने में पदस्थ संजीव कुमार को भी इस मेडल से सम्मानित किया गया है. 2015 सिविल लाइन विदिशा में 7 साल की मासूम का रेप कर उसे कुएं में फेंक दिया गया था. मासूम भी अज्ञात थी और आरोपी भी अज्ञात था. इस मामले में इन्वेस्टिगेशन कर टीआई चौकसे ने अज्ञात मासूम के बारे में ना सिर्फ पता लगाया, बल्कि उसके हत्यारे को सलाखों के पीछे पहुंचाया और फांसी की सजा भी दिलाई.



[ad_2]
Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close