स्पोर्ट्स

महाराजा यादविंदर सिंह के नाम से जाना जाएगा पीसीए स्टेडियम

Cricket Stadium
Image Source : GETTY

पंजाब क्रिकेट संघ (पीसीए) ने मुल्लांपुर में अपने नए स्टेडियम का नाम पूर्ववर्ती पटियाला राज्य के अंतिम राजा स्व.महाराजा यादविंद्र सिंह के नाम पर रखने का फैसला किया है। यादविंद्र 1934 में भारत की ओर से टेस्ट मैच खेले थे। वह पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के पिता थे। 

पीसीए अध्यक्ष राजिंदर गुप्ता और सचिव पुनीत बाली के अलावा संघ के अन्य पदाधिकारियों की मौजूदगी में हुई बैठक में यह फैसला किया गया। बाली ने कहा, ‘‘इस विचार का प्रस्ताव पीसीए अध्यक्ष ने रखा और इसे स्वीकृति दे दी गई।’’ 

पीसीए ने मौजूदा आईएस बिंद्रा स्टेडियम के नवीनीकरण की प्रक्रिया भी शुरू की जिससे कि इसे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में परिवर्तित किया जा सके। बाली ने कहा कि नवीनीकरण के बाद यहां मैदान, तरणताल, जिम और अन्य बुनियादी ढांचों की सुविधा उपलब्ध होगी। 

मुल्लांपुर में 38.2 एकड़ में बने स्टेडियम की रूपरेखा पूर्व पीसीए अध्यक्ष आईएस बिंद्रा ने तैयार की थी। शीर्ष परिषद की बैठक में जिन अन्य एजेंडा को स्वीकृति दी गई उनमें पीसीए ने अनुबंधित क्रिकेटरों की संख्या 30 से बढ़ाकर 40 करने का फैसला किया जिसमें 10 महिला खिलाड़ी भी शामिल होंगी। 

बाली ने कहा कि बैठक का एक मुख्य एजेंडा छात्रवृत्ति योजना को स्वीकृति देना था। उन्होंने कहा, ‘‘जिला विकास योजना को लागू करने के प्रस्ताव को भी स्वीकृति दी गई। इस योजना के तहत पंजाब के 18 जिला संघों को विकास का एजेंडा सौंपना होगा और पीसीबी की निरीक्षण समिति इस योजना का अध्ययन करेगी।’’ 

छोटे और बड़े जिलों के अनुदान में इजाफे का भी फैसला किया गया। उन्होंने कहा, ‘‘महामारी के दौरान काम करने वाले कार्याचल कर्मचारियों और मैदानकर्मियों को 40 हजार रुपये का बोनस दिया जाएगा।’’ 


Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close