विदेश

मंगल ग्रह पर हेलिकॉप्टर उड़ाने के लिए आज Perseverance लॉन्च करेगा NASA

Credits: NASA/JPL-Caltech

फ्लोरिडा. अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा ने मंगल ग्रह पर एक और रोवर लॉन्च करने की तैयारी में है. नासा के इस मिशन का नाम मार्स 2020 (Mars 2020) है. नासा ने मंगल पर अब तक 8 सफल मिशन पूरे कर लिए हैं.  बताया गया कि इस मिशन में नासा का रोवल मंगल की सतह पर पुराने जीवन की जानकारी इकट्ठा करने के साथ ही वहां से पत्थर और मिट्टी भी धरती पर लाएगा. बताया गया कि इस रोवर के साथ एक Ingenuity नाम का एक छोटा हेलिकॉप्टर भी जाएगा. इसकी कोशिश होगी कि यह मंगल पर अकेले उड़ान भरे.

नासा ने बताया कि मंगल के एटमासफियर में यह छोटा हेलिकॉप्टर सतह से 10 फीट ऊंचा उठकर एक बार में 6 फीट तक आगे जाएगा. इसके साथ ही वह और आगे बढ़ेगा. नासा में इस प्रोजेक्ट के मैनेज मिमि आंग ने कहा कि यह उड़ान उतनी ही रोमांचक होगी जितना पहली बार राइट ब्रदर्स के लिए रही होगी. इस मिशन में हेलिकॉप्टर के पास उड़ान भरने के लिए एक महीने का वक्त होगा. अगर यह सफल होता है तो आने वाले समय में ऐसे और प्रयोग देखे जा सकेंगे. नासा के इस Perseverance रोवर में कई कैमरे, माइक्रोफोन लगे हैं जो मंगल की तस्वीरें और आवाज रिकॉर्ड करेंगे.

इस नये प्रयोग पर एक 3 मिनट के वीडयो में नासा ने बताया है कि कैसे मंगल ग्रह पर यह छोटा हेलिकॉप्टर काम करेगा. मिशन से जुड़े एक अधिकारी ने कहा कि अगर यह सफल होता है तो हमारे लिए मील  का पत्थर होगा. नासा की प्रोजेक्ट मैनेजर ने कहा कि इसकी सफलता के बाद अंतरिक्ष की दुनिया में खोज करना हमारे लिए और आसान हो जाएगा.

एक अन्य अधिकारी ने कहा कि हालांकि मंगल पर उड़ान भरने के लिए बहुत बड़ी बाधा है वहां का वातावरण. ग्रह के आसपास की हवा पृथ्वी के वायुमंडल की मोटाई का केवल 1 प्रतिशत है. इतनी कम हवा  में घूमने के लिए मंगल पर लिफ्ट मिलना बहुत मुश्किल होगा. जो तकनीक हम धरती पर इस्तेमाल करते हैं उससे हम मंगल पर सफलता नहीं पा सकते हैं. इसलिए हमने नए तरीके ईजाद किये हैं.बता दें Nasa के इस प्रोजेक्ट की लॉन्चिंग 30 जुलाई को होनी है.




Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close