मध्य प्रदेश

भोपाल: रसोई सिलेंडर सप्लाई करने की आड़ में गैस एजेंसी के कर्मचारी कर रहे थे शराब तस्करी, गिरफ्तार

[ad_1]

भोपाल: रसोई सिलेंडर सप्लाई करने की आड़ में गैस एजेंसी के कर्मचारी कर रहे थे शराब तस्करी, गिरफ्तार

पुलिस ने महिन्द्रा लोडिंग पिकअप में गैस सिलेण्डर की आड़ में अवैध रूप से लाई गई 13 पेटी शराब जप्त की है.

इस मामले में पुलिस ने अत्यावश्यक वस्तु अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है, जिसमें कार्रवाई की जा रही है. हालांकि, शहर में रक्षाबंधन Raksha Bandhan) और ईद त्यौहार के दौरान सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर पुलिस चप्पे – चप्पे पर तैनात है.

भोपाल. भोपाल (Bhopal) के थाना पिपलानी इलाके में वाहन चेकिंग के दौरान एक पिकअप लोडिंग वाहन को रोका गया, जिसमें गैस सिलेण्डर (Gas cylinder) भरे हुए थे. जब पुलिस ने वाहन  चेक किया तो गैस सिलेण्डरों की आड़ में अंग्रेजी व देशी की 13 पेटी शराब (Alcohol) गाड़ी से बरामद की गई. साथ ही  44 घरेलु गैस सिलेण्डर भी  मिले. आरोपियों से पूछताछ में उन्होंने बताया  की  शराब  दीवानगंज से बेंचने के लिए भोपाल ला रहे थे. इससे पहले भी कई  बार शराब  तस्करी  कर चुकें है. क्यूंकि  भोपाल शहर  में लॉकडाउन लगा हुआ है ओर  शराब की दुकाने  बंद है. इसलिए पैसे कमाने के लिए शराब तस्करी  की जा रही थी.

पुलिस ने महिन्द्रा लोडिंग पिकअप में गैस सिलेण्डर की आड़ में अवैध रूप से लाई गई 13 पेटी शराब  जप्त की जिसकी कीमत एक लाख 17 हजार रुपये  बताई जा रही है. पुलिस ने वाहन में रखे 44 घरेलु गैस सिलेण्डर जिनकी कीमत 66 हजार रुपये एवं लोडिंग वाहन महिन्द्रा पिकअप क्रमांक MP04LD4434 जिसकी कीमत 7 लाख रुपये है, उसे भी जप्त  कर लिया है.साथ ही आरोपी राहुल साहू एवं इमरत नायक को गिरफ्तार किया है.

पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है
जानकारी के मुताबिक, पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है. जो कि गैस सिलेंडर के साथ अवैध  शराब  बेचने का काम  कर रहे थे. इस मामले में पुलिस ने अत्यावश्यक वस्तु अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है, जिसमें कार्रवाई की जा रही है. हालांकि, शहर में रक्षाबंधन और ईद त्यौहार के दौरान सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर पुलिस चप्पे – चप्पे  पर तैनात है. बाबजूद शराब तस्करी के मामले लगातार देखने को मिल रहे हैं.  वहीं, पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, जिनसे पूछताछ  की जा रही है. वह कितने लम्बे समय से शराब तस्करी  कर रहे हैं. क्यूंकि भोपाल में 22 मार्च से लॉक डाउन लगा हुआ था. इसके आलावा इस मामले में ओर कौन – कौन शामिल हैं,  इनका भी पता लगाया जा रहा है.



[ad_2]
Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close