स्पोर्ट्स

भारतीय टीम को 26 खिलाड़ियों के दल के साथ जाना चाहिए ऑस्ट्रेलिया : MSK प्रसाद

Image Source : GETTY IMAGES
India cricket team

पूर्व मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद का मानना है कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत की टेस्ट सीरीज शुरू होने से पहले 14 दिन के अनिवार्य क्वारंटीन के कारण बीसीसीआई वेस्टइंडीज और पाकिस्तान की तरह ही बड़ी टीम भेजने के लिये बाध्य हो सकता है। प्रसाद के अनुसार अच्छा यही होगा कि कम से कम 26 सदस्यीय मजबूत टीम ऑस्ट्रेलिया भेजी जाये जहां भारत और ‘ए’ टीमों को एक महीने के लिये एक साथ रखा जा सकता है। 

इंग्लैंड में कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करने के लिये पाकिस्तान 29 खिलाड़ियों (जिसमें सफेद गेंद के विशेषज्ञ भी शामिल) की टीम के साथ पहुंचा और वेस्टइंडीज की टीम में 26 खिलाड़ी हैं। फरवरी तक चयन समिति प्रमुख रहे प्रसाद ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘टीम प्रबंधन और सीनियर खिलाड़ियों के पास युवाओं को देखने का मौका होगा जो टीम में जगह बनाने के लिये तैयार हैं। ’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘इस प्रक्रिया में, आप इन खिलाड़ियों पर निगरानी भी रख सकते हो जो भविष्य में विभिन्न स्थानों के लिये संभावित खिलाड़ी हो सकते हैं। ’’ इस 26 खिलाड़ियों की टीम से सुनिश्चित होगा कि भारत को दो ग्रुप में विभाजित किया जा सकता है और पृथकवास समय के दौरा एक अभ्यास मैच खेला जा सकता है। प्रसाद ने कहा, ‘‘कोविड के कारण हम नेट गेंदबाजों पर भरोसा नहीं कर सकते तो बड़े दल के साथ जाना आदर्श स्थिति होगी क्योंकि इससे हम सभी खिलाड़ियों की सुरक्षा सुनिश्चित कर सकते हैं क्योंकि वे जैविक रूप से सुरक्षित वातावरण में होंगे। ’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘अगर कोई कोविड-19 पॉजिटिव पाया जाता है तो इस दल में खिलाड़ियों को चुना जा सकता है क्योंकि वे अनिवार्य पृथकवास समय बिता चुके होंगे। ’’ प्रसाद का मानना है कि यह मुख्य टीम के लिये अच्छी तैयारी होगी क्योंकि पहली पसंद वाले बल्लेबाजों के पास गेंदबाजी अभ्यास के लिये कई गेंदबाज होंगे। 

उन्होंने कहा, ‘‘यहां तक कि हमारे मुख्य गेंदबाजों के लिये, उनके पास भी गेंदबाजी के लिये नये बल्लेबाज होंगे। जैसे श्रेयस अय्यर काफी आक्रामक है और कभी कभार ‘गैर पारंपरिक’ हो सकता है। इसलिये वह काफी विविधता ला सकता है जो शायद आस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों के पास हों। ’’ 

कुछ रिजर्व तेज गेंदबाज भी आदर्श होंगे क्योंकि टीम के मुख्य गेंदबाज जैसे जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, इशांत शर्मा और उमेश यादव नेट गेंदबाजों की अनुपस्थिति में थकेंगे नहीं। ’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘साथ ही अगर आईपीएल इस श्रृंखला से पहले होगा तो बड़ा दल ले जाना बेहतर होगा क्योंकि हमें ‘बैक अप’ के लिये तैयार होना चाहिए, कहीं कोई चोटिल हो जाये या फिर आईपीएल में ही हल्की चोट लगी हो। ’’ 

कोरोना से जंग : Full Coverage




Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close