विदेश

भारतीय आईटी प्रोफेशनल्स को झटका! ट्रंप ने H-1B वीज़ा को लेकर आदेश जारी किया

डोनाल्ड ट्रंप ने H-1B वीज़ा को लेकर कार्यकारी आदेश जारी कर दिया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

ट्रम्प ने अब H-1B वीज़ा (H-1B Visa) को लेकर एक नया कार्यकारी आदेश जारी किया है जिसके तहत अमेरिका की फेडरल एजेंसीज़ एच-1बी वीज़ा पर हायरिंग नहीं कर सकेंगी.

वाशिंगटन. अमेरिकी आईटी बाजार पर नजर गड़ाए भारतीय आईटी पेशेवरों (Indian IT Professionals) को अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (US President Donald Trump) ने एक बड़ा झटका दिया है. ट्रम्प ने अब H-1B वीज़ा (H-1B Visa) को लेकर एक नया कार्यकारी आदेश जारी किया है जिसके तहत अमेरिका की फेडरल एजेंसीज़ एच-1बी वीज़ा पर हायरिंग नहीं कर सकेंगी. सोमवार को ट्रम्प ने जिस कार्यकारी आदेश पर हस्ताक्षर किया है उसमें अमेरिकी फेडरल एजेंसियां एच-1बी वीज़ा पर अमेरिका आने वाले विदेशी वर्कर्स को कॉन्ट्रैक्ट या सबकॉन्ट्रैक्ट पर नौकरी पर नहीं रख सकेंगी.

यह नियम 24 जून से प्रभावी होंगे

चुनावी साल में अमेरिकी कामगरों के हितों को ध्यान में रखकर ट्रम्प प्रशासन ने 23 जून को एच -1बी वीजा और अन्य वीजा को निलंबित करने के आदेश के लगभग एक महीने बाद यह कदम उठाया गया है. वीजा संबंधी ने नियम 24 जून से प्रभावी होंगे.

एच -1बी वीजा क्या हैH1B वीजा एक एक नॉन-इमिग्रेंट वीजा है. यह वीजा अमेरिकी कंपनियों को विदेशी प्रोफेशनल्स को सैद्धांतिक या तकनीकी विशेषज्ञता से जुड़े कामों में नियोजित करने की अनुमति देता है. अमेरिकी टेक्नोलॉजी कंपनियां प्रत्येक वर्ष भारत और चीन जैसे देशों से दसियों हजार कर्मचारियों को नियुक्त करने के लिए इस वीजा पर निर्भर हैं. ट्रंप ने व्हाइट हाउस के अपने ओवल ऑफिस में इस आदेश पर हस्ताक्षर करने से पहले मीडिया के सामने कहा कि आज मैं एक कार्यकारी आदेश पर दस्तखत कर रहा हूं, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि फेडरल सरकार एक आसान नियम पर चलेगी- अमेरिकी नागरिक सबसे ऊपर हैं.

ट्रंप ने संवाददाताओं से यह भी कहा कि उनका प्रशासन सस्ते विदेशी श्रमिकों की खोज में मेहनती अमेरिकियों को नौकरी से बेदखली बिलकुल बर्दाश्त नहीं करेगा. ट्रम्प ने यह बयान आउटसोर्सिंग के खिलाफ अभियान चलाने वाले व्यक्तियों के सामने दिया जिनमें फ्लोरिडा के प्रोटेक्ट यूएस वर्कर्स ऑर्गेनाइजेशन की संस्थापक एवं अध्यक्ष सारा ब्लैकवेल, टेनेसी वैली अथॉरिटी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर जोनाथन हिक्स तथा पेंसिल्वेनिया के यूएस टेक वर्कर्स के संस्थापक केविन लिन शामिल थे.

ये भी पढ़ें: लिवरपूल के समुद्री तट पर मिला 15 फुट का रहस्मयी प्राणी का कंकाल

खुशखबरी: रूस में कोरोना वैक्सीन तैयार, अगले महीने से शुरू होगा प्रोडक्शन

अमेरिका में एच-1बी वीजा की प्रत्येक वित्त वर्ष में वार्षिक सीमा 65,000 की है. इस सरकारी आदेश के तहत सभी संघीय एजेंसियों को 120 दिन के अंदर आंतरिक ऑडिट कर यह साबित करना होगा कि वे सिर्फ अमेरिकी नागरिकों को ही प्रतिस्पर्धी सेवाओं में नियुक्त कर रही हैं.




Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close