मध्य प्रदेश

त्योहारों पर कोरोना की मार : नहीं सजेंगे पूजा पंडाल, जलसे-जुलूस पर रहेगी रोक

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए भीड़ जमा होने पर मनाही है.

मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में इस बार गणेश पंडाल (ganesh pandal) नहीं लगाए जाएंगे. जन्माष्टमी भी घर पर मनायी जाएगी और मोहर्रम पर जुलूस और ताजिए निकालने पर भी बैन रहेगा.

भोपाल. कोरोना (corona) की मार अब त्योहारों पर भी पड़ गयी है. इस बार त्योहार भी सूने रहेंगे. त्योहारों का सिलसिला शुरू होने से पहले ही सरकार ने कह दिया है कि सब घर में रहकर उत्सव मनाएं. सार्वजनिक जलसे-जुलूस पर रोक रहेगी. गणेशोत्सव, मोहर्रम, जन्माष्टमी और दूसरे त्योहार (festival)  इस बार सार्वजनिक रूप से नहीं मनाए जाएंगे.

मध्य प्रदेश में इस बार गणेश पंडाल नहीं लगाए जाएंगे. जन्माष्टमी भी घर पर मनायी जाएगी और मोहर्रम पर जुलूस और ताजिए निकालने पर भी बैन रहेगा. यानि कोई भी धार्मिक त्योहार सार्वजनिक रूप से नहीं मनाया जाएगा.पूजा स्थलों पर एक बार में 5 से ज्यादा व्यक्ति नहीं जुट सकेंगे. यहां तक कि स्वतंत्रता दिवस भी सीमित रूप में मनाया जाएगा. सरकार ने इस बार स्वतंत्रता दिवस भी सीमित रूप से मनाने का फैसला किया है. सरकार की कोशिश है कि धार्मिक और 15 अगस्त पर होने वाले आयोजन में कहीं भी भीड़ ना जुटे.

कब कौन सा त्यौहार9 अगस्त को आदिवासी दिवस से शुरू हुआ त्योहारों का सिलसिला अब अगले दो महीने तक चलेगा. 12 अगस्त को जन्माष्टमी, 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस और फिर 30 अगस्त को मोहर्रम है. इस बीच 22 अगस्त से गणेश उत्सव है. लेकिन यह सभी त्यौहार घर पर ही मनाना होंगे. कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए भीड़ जमा होने पर मनाही है.इस बार कोई भी बड़े पंडाल और झांकियां नहीं सजा सकेंगे. साथ ही कोई बड़ी प्रतिमा भी स्थापित नहीं हो सकेगी. राज्य सरकार ने पहले भी ईद-उल-जुहा और रक्षाबंधन पर भी किसी तरह की छूट नहीं दी थी. अब सरकार की कोशिश है कि प्रदेश में मनाए जाने वाले त्योहारों पर भी भीड़ न जुटे. इसके लिए अभी से इंतजाम कर लिए जाएं. राज्य सरकार ने कलेक्टरों को जिलों में क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक कर जरूरी गाइडलाइन जारी करने के लिए भी कहा है.




Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close