विदेश

ड्रैगन का आरोप, अमेरिका कर रहा चीन के छात्रों और शोधकर्ताओं का उत्पीड़न

कॉन्सेप्ट इमेज.

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने कहा कि कुछ समय से अमेरिका (America) चीनी छात्रों और शोधकर्ताओं पर नजर रख रहा है, उनका उत्पीड़न कर रहा है और जानबूझकर उन्हें हिरासत में ले रहा है.

बीजिंग. चीन ने सोमवार को अमेरिका (America) पर आरोप लगाया कि वह चीनी छात्रों और शोधकर्ताओं ‘पर नजर रख रहा है, उनका उत्पीड़न कर रहा है और जानबूझकर उन्हें हिरासत में ले रहा है.’ कैलिफोर्निया (California) में एक विश्वविद्यालय की एक शोधकर्ता पर आरोप है कि उसने अमेरिका में आने के लिए चीन की सेना और कम्युनिस्ट पार्टी से अपने संबंधों के बारे में झूठ बोला और इस कारण उसे जमानत नहीं मिली. इसके बाद विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन का यह बयान आया है. वांग ने कहा कि देश से जाने वाले जुआ टांग का सहयोग करने का चीन का कोई इरादा नहीं है. बहरहाल उन्होंने कहा कि चीन अमेरिका से आग्रह करता है कि ‘कानून के मुताबिक मामले में निष्पक्ष तरीके से निपटा जाए और टांग की सुरक्षा और उचित अधिकारों को सुनिश्चित किया जाए.’

वांग ने कहा, ‘कुछ समय से अमेरिका चीनी छात्रों और शोधकर्ताओं पर नजर रख रहा है, उनका उत्पीड़न कर रहा है और जानबूझकर उन्हें हिरासत में ले रहा है.’ उन्होंने कहा, ‘अमेरिकी की कार्रवाई चीनी नागरिकों के वैध अधिकारों और हितों का गंभीर उल्लंघन है और इससे चीन और अमेरिका के बीच सामान्य संस्कृति और कर्मियों के आदान-प्रदान का कार्यक्रम गंभीर रूप से बाधित हुआ है.’

ये भी पढ़ें: जूनियर ट्रंप को भारतीयों पर है भरोसा, कहा-दोबारा जीत सकते हैं डोनाल्ड ट्रंप

23 जुलाई को किया था गिरफ्तारजमानत से इंकार करते हुए अमेरिका के मजिस्ट्रेट न्यायाधीश देबोरा बर्न्स ने कहा कि टांग (37) को अगर रिहा किया जाता है तो वह देश छोड़ देगी. टांग को 23 जुलाई को गिरफ्तार किया गया था और तब से वह बिना जमानत के गिरफ्तार है. उसने अस्थमा के इलाज के लिए सैन फ्रांसिस्को स्थित चीनी वाणिज्य दूतावास को छोड़ दिया था.




Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close