विदेश

ट्रंप ने बदला अपना मन, कहा- Corona के कारण देरी से खुलेंगे कुछ स्कूल

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (फाइल फोटो)

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने अपने रुख में बदलाव किया है लेकिन दोहराया कि हर स्कूल को खुलने की तैयारी सक्रियता के साथ करनी चाहिए. देश के कुछ बड़े जिलों ने स्कूलों को पूरी तरह से खोलने के विचार को पहले ही खारिज कर दिया था.

वाशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने अपने पहले के रुख में नरमी लाते हुए माना है कि इस बार कुछ स्कूलों (Schools) को फिर से खोलने में देरी हो सकती है क्योंकि कोरोना वायरस महामारी का प्रकोप बढ़ रहा है. इससे पहले ट्रंप ने अमेरिका के स्कूलों को पूरी तरह फिर से खोलने की वकालत की थी. पिछले कुछ सप्ताहों में ट्रंप ने कहा है कि स्कूल खोलना सुरक्षित है और डेमोक्रेट राजनीतिक कारणों से इसका विरोध कर रहे हैं. लेकिन बृहस्पतिवार को व्हाइट हाउस के संवाददाता सम्मेलन में ट्रंप ने कहा कि कोरोना वायरस से अति प्रभावित कुछ जिलों में स्कूलों को फिर से खोलने में कुछ सप्ताह की देरी हो सकती है. उन्होंने कहा कि इस बारे में गवर्नर फैसला लेंगे.

ट्रंप ने अपने रुख में बदलाव किया है लेकिन दोहराया कि हर स्कूल को खुलने की तैयारी सक्रियता के साथ करनी चाहिए. देश के कुछ बड़े जिलों ने स्कूलों को पूरी तरह से खोलने के विचार को पहले ही खारिज कर दिया था. लॉस एंजिलिस और सैन डियेगो जिलों में इस पतझड़ में ऑनलाइन कक्षाएं संचालित करने की योजना है, वहीं न्यूयॉर्क शहर के स्कूलों ने ऑनलाइन और वैयक्तिक दोनों तरह से अध्यापन की योजना बनाई है.

2 लाख 75 हजार कोरोना के नए मामले
उल्लेखनीय है कि, अमेरिका, ब्राजील और भारत में कोरोना संक्रमण के नए केसों के बढ़ने का सिलसिला जारी है. दुनिया में गुरूवार को संक्रमण के 2 लाख 75 हज़ार नए मामले सामने आए जिसके बाद कुल मामले बढ़कर अब 1 करोड़ 56 लाख से भी ज्यादा हो गए हैं. बीते 24 घंटों में संक्रमण से करीब 6300 लोगों की मौत हो गयी जिसके बाद कुल मौतों की संख्या बढ़कर 6 लाख 35 हज़ार हो गयी है. अमेरिका में 69 हज़ार, ब्राजील में 58 हज़ार और भारत में 48 हज़ार नए केस सामने आए हैं.ये भी पढ़ें: ट्रांसपेरेंट कपड़े पहनकर मरीजों का इलाज करती थी ये हॉट नर्स, अब बनीं न्यूज एंकर

ट्रंप ने की मदद की घोषणा
कोविड-19 के मामले बढ़ने से नर्सिंग होम में मरीजों की मौत की आशंकाओं के मद्देनजर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने महामारी की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य केंद्रों को पांच अरब डॉलर की मदद देने की घोषणा की है. यह कदम राष्ट्रपति पद के चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के संभावित उम्मीदवार जो बाइडेन द्वारा पारिवारिक देखभाल योजना की घोषणा के बाद उठाया गया है. बाइडेन की योजना का उद्देश्य बुजुर्गों के लिए संस्थागत देखभाल के विकल्पों का विस्तार करना और सब्सिडी देना है. ट्रंप और बाइडेन आगामी राष्ट्रपति चुनावों में देश के वरिष्ठ नागरिकों का समर्थन और वोट पाने का प्रयास कर रहे हैं. ट्रंप ने व्हाइट हाउस में कहा, ‘मैं हर वरिष्ठ नागरिक को मदद और उम्मीद का संदेश देना चाहता हूं.’ उन्होंने कहा, ‘आशा की किरण दिखनी शुरु हो गई है और हम जल्द ही सफल हो जाएंगे.’ बुधवार को घोषित पांच अरब डॉलर की निधि उस पैकेज का हिस्सा है जिसमें नर्सिंग होम के कर्मियों की जांच, कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर सुविधाओं की साप्ताहिक सूची और नर्सिंग होम को अतिरिक्त प्रशिक्षण और समर्थन देना शामिल है.




Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close