विदेश

कोविड-19: हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन की तारीफ के लिए ट्विटर ने ट्रंप के बेटे को 12 घंटे ब्लॉक किया

ट्विटर ने ट्रंप के बेटे का अकाउंट ब्लॉक किया

ट्रंप के बेटे ट्रंप जूनियर (Donald Trump Jr) ने भी ट्विटर (Twitter) पर एक वीडियो पोस्ट की जिसमें हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine) के फ़ायदे बताए गए थे. इसके बाद सख्त कदम उठाते हुए ट्विटर ने ट्रंप जूनियर के 12 घंटे तक ट्वीट करने पे पाबंदी लगा दी.

वाशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) लगातार कोविड-19 (Covid-19) के इलाज के लिए मलेरिया की दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine) तरफदारी करते रहे हैं. मंगलवार को ट्रंप के बेटे ट्रंप जूनियर (Donald Trump Jr) ने भी ट्विटर (Twitter) पर एक वीडियो पोस्ट की जिसमें हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के फ़ायदे बताए गए थे. इसके बाद सख्त कदम उठाते हुए ट्विटर ने ट्रंप जूनियर के 12 घंटे तक ट्वीट करने पे पाबंदी लगा दी. बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) पहले ही हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के ट्रायल बंद कर चुका है और कई रिपोर्ट्स में इससे दिल की बीमारियों का खतरा भी बताया गया है.

BBC की एक रिपोर्ट के मुताबिक ट्विटर ने कहा है कि ट्रंप जूनियर का वीडियो कोविड-19 को लेकर ग़लत सूचनाओं के नियम का उल्लंघन है. ट्रंप सहित कुछ लोगों ने मलेरिया की इस दवा को कोरोना वायरस में फ़ायदेमंद बताया है, हालांकि मेडिकल स्टडी में इसकी कोई पुष्टि नहीं हुई है. ट्विटर ने बताया कि वे सिर्फ ट्वीट करने के लिए बैन रहेंगे हालांकि वे अपने एकाउंट को ब्राउज कर पाएंगे और डायरेक्ट मैसेज की सुविधा चलती रहेगी.

ट्रंप ने भी की फिर से की वकालत
उधर डोनाल्ड ट्रंप ने मंगलवार को एक बार फिर से कोरोना संक्रमण के इलाज के लिए हॉइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के इस्तेमाल के समर्थन किया है. उन्होंने कहा है कि मलेरिया की दवा कोविड-19 के इलाज में केवल इसलिए ख़ारिज किया जा रहा है क्योंकि वे इसका समर्थन कर रहे हैं. ट्रंप ने व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से कहा, ‘जब मैं कोई चीज़ रिकमेंड करता हूं तो वे इसे ख़ारिज करना पसंद करते हैं.’ट्रंप ने मंगलवार को संवाददाताओं से कहा कि 14 दिनों तक इस दवा का सेवन करने के बाद भी उन्हें कोई साइड इफेक्ट महसूस नहीं हुआ है. उन्होंने कहा, ‘मैं केवल अपनी बात रख सकता हूं, काफ़ी पढ़ने और जानकारी हासिल करने के बाद मुझे लगता है कि शुरुआती स्टेज में यह कारगर दवा है. मेरे ख्याल से इसके इस्तेमाल से आपका कोई नुकसान नहीं होता है, वरना यह इतनी लोकप्रिय नहीं होती.’


क्या कहता है WHO?

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी कहा है कि हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन के कोरोना के इलाज में कारगर होने के अब तक कोई सबूत नहीं मिले हैं. विशेषज्ञों के मुताबिक इस दवा के इस्तेमाल से हृदय संबंधी मुश्किलें बढ़ जाती हैं. पिछले ही महीने अमेरिकी फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) ने कोरोना संक्रमण के इलाज में इस दवा के इस्तेमाल को लेकर चेतावनी जारी कर चुका है. कोरोना वायरस के इलाज के लिए हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन को डोनाल्ड ट्रंप ने सबसे पहले मार्च में कारगर बताया था. 73 साल के डोनाल्ड ट्रंप ने इसके बाद मई में कहा कि उन्होंने इस दवा से अपना इलाज किया. इसके आलावा ब्राजील के राष्ट्रपति जैर बोलसोनारो बीते दिनों संक्रमित पाए गए थे और उन्होंने भी हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन के जरिए ठीक होने का दावा किया था.




Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close