विदेश

कोरोना एक्सपर्ट फॉसी से जुड़े एक सवाल पर बोले ट्रंप- कोई मुझे पसंद नहीं करता

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा- मुझे कोई पसंद नहीं करता.

डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) और कोरोना एक्सपर्ट डॉक्टर एंथनी फॉसी (Coronavirus Expert Anthony Fauci) के बीच जारी मतभेद अब खुलकर सामने आने लगे हैं. मंगलवार सुबह एक कार्यक्रम में फॉसी ने स्पष्ट कर दिया कि वे हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के मुद्दे पर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) और अमेरिकी फ़ूड एंड ड्रग अथोरिटी (FDA) के निष्कर्षों के समर्थन में हैं.

वाशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) और कोरोना एक्सपर्ट डॉक्टर एंथनी फॉसी (Coronavirus Expert Anthony Fauci) के बीच जारी मतभेद अब खुलकर सामने आने लगे हैं. मंगलवार सुबह एक कार्यक्रम में फॉसी ने स्पष्ट कर दिया कि वे हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के मुद्दे पर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) और अमेरिकी फ़ूड एंड ड्रग अथोरिटी (FDA) के निष्कर्षों के समर्थन में हैं. इसके बाद ट्रंप ने व्हाइट हाउस संवाददाता सम्मलेन में फॉसी से जुड़े एक सवाल के जवाब में कहा कि उन्हें कोई पसंद नहीं करता, शायद ऐसा उनकी पर्सनैलिटी की वजह से है.

ट्रंप ने कहा कि कोई मुझे पसंद नहीं करता, ऐसा आप चुनावों की रेटिंग देखकर भी अंदाजा लगा सकते हैं. इसी बातचीत में ट्रंप ने एक बार फिर फॉसी, WHO और एफडीए के खिलाफ जाते हुए कोरोना के लिए हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन को ही अपनी पहली पसंद बताया. ट्रंप ने कहा कि इस दवा को मैंने इस्तेमाल करने की सलाह दी थी इसलिए बाकी लोगों ने इसे खारिज कर दिया. बता दें कि फॉसी व्हाइटहाउस की कोरोना टास्क फ़ोर्स को लीद कर रहे था और अब अमेरिका में तैयार हो रही वैक्सीन की टीम के हेड भी हैं. फॉसी ने मंगलवार को सपष्ट कहा कि लोगों को WHO और अन्य वैज्ञानिक संस्थानों की सलाह का पालन करना चाहिए. हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन पर उन्होंने कहा कि इस दवा से हार्ट संबंधित समस्याओं का पता चला है और फिलहाल इसे कोरोना के इलाज के लिए इस्तेमाल करने की सलाह नहीं दी जा सकती.

अमेरिका के ज्यादातर हिस्से वायरस मुक्त
वायरस से निपटने के अपने तरीक़ों का बचाव करते हुए राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने दावा किया कि अमरीका के ज़्यादातर हिस्से वायरस-मुक्त रहे. जबकि संघीय आकड़े बताते हैं सिर्फ एक राज्य, वरमोंट में स्थिति ठीक है. ट्रंप ने यह भी कहा कि शीर्ष संक्रामक रोग विशेषज्ञ, एंथनी फॉसी उनसे ज़्यादा लोकप्रिय हैं. अमेरिका के छह दक्षिणी और पश्चिमी राज्यों में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के रिकॉर्ड नए मामले दर्ज किए गए. वहीं देश भर में इस बीमारी से क़रीब 1600 मौतें हुईं. मई के बाद एक दिन में ये सबसे ज़्यादा वृद्धि है. आरकनसो, कैलिफोर्निया, फ्लोरिडा, मोंटाना, ओरेगन और टेक्सस राज्य में संक्रमण में रिकॉर्ड बढ़ोतरी देखी गई. टेक्सस में भी कैलिफोर्निया और न्यू यॉर्क की तरह मामलों की संख्या चार लाख के पार हो गई है.हम दूसरे देशों को दे सकते हैं वैक्सीन

ट्रंप का कहना है कि कोरोना का टीका तैयार होने पर अमेरिका दूसरे देशों को इसकी सप्लाई कर सकता है. उन्होंने कहा कि जैसे हमने वेंटिलेटर और अन्य जरूरी चीजें दूसरे देशों को दी थी, वैसे ही हम वैक्सीन भी उन्हें देंगे. एक रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका इस साल के आखिरी या 2021 की शुरुआत में टीका तैयार होने की उम्मीद है. यहां की मॉडर्ना कंपनी ने वैक्सीन के तीसरे स्टेज का ट्रायल शुरू कर दिया है.

मॉडर्ना को बंदरों पर टीके के प्रयोग में मिली कामयाबी
अमेरिकी बायोटेक कंपनी मॉडर्ना ने कहा है कि कोरोना वायरस के उनके एक टीके के बंदरों पर प्रयोग के दौरान मिले नतीजे अच्छे रहे हैं. मॉडर्ना ने कहा कि ये टीका फेफड़ों और नाक के संक्रमण से बचाता है और फेफड़ों की बीमारी को रोकता है. सोमवार को, इस कंपनी ने इंसानों पर भी टेस्ट शुरू किया जिसमें 30 हज़ार स्वयंसेवक शामिल हो रहे हैं. कंपनी को अमरीका सरकार ने एक विशेष कार्यक्रम के तहत एक अरब डॉलर का फ़ंड दिया है. ऑपरेशन वॉर्प स्पीड नाम के इस कार्यक्रम के तहत कोरोना वायरस का टीका बनाने के लिए किए जा रहे कई प्रयासों को पैसे दिए जा रहे हैं.




Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close