देश

केरल में सामने आए कोविड-19 के 19,760 नए मामले, 194 और लोगों की मौत

Image Source : PTI
केरल में मंगलवार को कोविड-19 से 194 और मौतें होने से मृतकों की संख्या बढ़कर 9,009 हो गई।

तिरुवनंतपुरम: केरल में मंगलवार को कोविड-19 से 194 और मौतें होने से मृतकों की संख्या बढ़कर 9,009 हो गई जबकि संक्रमण के 19,760 नए मामले आए, जिससे राज्य में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 25,16,314 हो गए। राज्य में 24,117 और लोगों के ठीक होने के बाद अब तक इस बीमारी से ठीक हुए लोगों की कुल संख्या बढ़कर 23,34,502 हो गई। स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने कहा कि मलप्पुरम में सबसे अधिक 2,874 नए मामले आए, इसके बाद तिरुवनंतपुरम में 2,345 और पलक्कड़ में 2,178 मामले सामने आए। राज्य में अब 7,64,008 मरीजों का इलाज चल रहा है।

इस बीच मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कहा है कि कोविड-19 के खिलाफ राष्ट्रीय स्तर पर सामूहिक प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने के लिए सार्वभौम टीकाकरण सबसे बेहतर तरीका है। उन्होंने केंद्र सरकार से अपील की कि सभी राज्यों को कोविड-19 का नि:शुल्क टीका मुहैया कराएं। उन्होंने राज्य विधानसभा में कहा कि राज्य सरकार ने केरल चिकित्सा सेवाएं निगम के माध्यम से कोविशील्ड टीके की 70 लाख खुराक और कोवैक्सीन टीके की 30 लाख खुराक का ऑर्डर दिया है। 

उन्होंने कहा, ‘‘राज्य सरकार सभी के लिए नि:शुल्क टीकाकरण चाहती है। केंद्र सरकार को इस रूख से अवगत करा दिया गया है।’’ वह कोविड-19 टीकाकरण पर पोन्नई के विधायक पी. नंदकुमार के ध्यानाकर्षण प्रस्ताव पर जवाब दे रहे थे। विजयन ने कहा कि केरल ने केंद्र सरकार से आग्रह किया है कि सभी के लिए जनहित में नि:शुल्क टीका मुहैया कराने के लिए आवश्यक कदम उठाए जाएं। 

उन्होंने कहा कि केंद्र से यह भी कहा गया है कि अगर राज्य बाजार में टीके के लिए प्रतिस्पर्द्धा करेंगे तो इससे इसके मूल्यों में बढ़ोतरी होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि टीके का पर्याप्त भंडार हासिल करने के लिए केरल ने वैश्विक निविदा आमंत्रित की है लेकिन इस बारे में केंद्र प्रभावी कदम उठा सकता है। विजयन ने कहा कि इसलिए हाल में प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में यह जिक्र किया गया कि केंद्र के लिए यह बेहतर होगा कि वह वैश्विक निविदा आमंत्रित करे।

ये भी पढ़ें

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन




Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close