स्पोर्ट्स

कुमार संगाकारा ने माना, इस भारतीय गेंदबाज समेत वर्ल्ड क्रिकेट में सिर्फ दो गेंदबाजों से लगता था उन्हें डर

Image Source : GETTY
Kumar Sangakkara and Zaheer Khan

श्रीलंका के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी कुमार संगाकारा ने जब अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा उस समय तक वर्ल्ड क्रिकेट में संगाकारा ने काफी कुछ हासिल कर लिया था। संगाकारा ना सिर्फ एक बल्लेबाज थे बल्कि बेहतरीन विकेटकीपर होने के साथ – साथ वोस श्रीलंका के सफल कप्तानों में भी गिने जाते हैं। उनकी कप्तानी में श्रीलंका ने 2009 आईसीसी टी20 विश्वकप और 2011 विश्वकप का फ़ाइनल मुकाबला खेला। हलांकि संगकारा की किस्मत खराब रही और उन्हें दोनों में हार का सामना करना पड़ा। 

इस तरह श्रीलंका की टीम में पूर्व खिलाड़ी महेला जयवर्धने के साथ वो अपनी टीम को बल्ल्लेबजी में मजबूती प्रदान करते थे। दशकों तक इन दोनों बल्लेबाजों के इर्द गिर्द श्रीलंका की बल्लेबाजी घुमती रही। यही कारण है कि संगाकारा के नाम टेस्ट क्रिकेट में 12,400 रन है जबकि वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में वो सचिन तेंदुलकर के बाद 14,234 रन बनाकर दूसरे नम्बर पर हैं। वहीं श्रीलंका के लिए वनडे क्रिकेट में सबसे अधिक रन बनाने वाले वो बल्लेबाज हैं। 

गौरतलब है कि संगाकारा के बल्लेबाजी रिकॉर्ड बयाँ करते हैं कि वो किस तरह के धाकड़ बल्लेबाज रहे हैं। जबकि इन दिनों क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद इंग्लैंड में मैरिबिलोन क्रिकेट क्लब के सदस्य हैं। जो की क्रिकेट का सबसे पुराना क्लब माना जाता है। इस क्लब के सवाल – जवाब में फैन्स ने संगाकारा से पूछा कि आपको बल्लेबाजी करते समय दुनिया के किन गेंदबाजों से डर लगता था। जिसके जवाब में संगाकारा ने दो लेफ्ट आर्म तेज गेंदबाजों के नाम लिए जिसमें एक भारतीय गेंदबाज भी शामिल था। पहला गेंदबाज उन्होंने पाकिस्तान के वसीम अकरम जबकि दूसरा गेंदबाज भारत के 2011 विश्वकप विजेता खिलाड़ी रह चुके ज़हीर खान को बताया। 

संगाकारा ने कहा, “वसीम अकरम का सामना करना एक बुरा सपना देखने जैसा था। जबकि ज़हीर खान का सामना करने में भी मुझे कई बार मुश्किल होती थी।”

ये भी पढ़े :बाबा रामदेव की कंपनी पंतजलि आईपीएल के टाइटल स्पॉन्सरशिप की रेस में हुई शामिल

वहीं जब आगे उनसे विकेटकीपिंग करने के लिहाज से सबसे कठिन गेंदबाज के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, “मुरलीधरन की गेंदों पर कीपिंग करने में काफी मुश्किल होती थी क्योंकि उनकी गेंद घुमती बहुत थी। जबकि श्रीलंका के मौसम में आपका दिमागी और शारीरिक दोनों रूप से टेस्ट होता है। तो इस मामले में वो पहले स्थान पर रहेंगे।”

कोरोना से जंग : Full Coverage




Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close