मध्य प्रदेश

इंदौर: कोरोना और FIR से नहीं डर रहे कांग्रेसी, प्रदर्शन-रैलियां से जनता पर मंडराया ‘खतरा’

कांग्रेस का राजबाड़ा समेत जोन 1 के मार्केट को खोलने के लिए प्रयास जारी है.

कांग्रेस के विधायक संजय शुक्ला (Congress MLA Sanjay Shukla) और शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल अपने समर्थकों के साथ इंदौर शहर के प्रमुख बाजार राजबाड़ा समेत जोन 1 के मार्केट भी खोलने के लिए रैली निकाली. इस दौरान सोशल डिस्‍टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ीं. हैरानी की बात ये है कि इस समय इंदौर में कोरोना वायरस (Coronavirus) के 1800 से अधिक एक्टिव केस हैं.

इंदौर. मध्‍य प्रदेश के इंदौर में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus infection)के बीच भी जमकर राजनीति भी हो रही है. इंदौर जिला प्रशासन ने जैसे ही जॉन टू के बाजारों को सप्ताह में 6 दिन सुबह 7 बजे से रात 8 बजे तक खोलने के निर्देश दिए उसके बाद से कांग्रेसी शहर के प्रमुख बाजार राजबाड़ा समेत जोन 1 के मार्केट भी खोलने का दबाव प्रशासन पर बना रहे हैं. इसको लेकर सोमवार को कांग्रेस के विधायक संजय शुक्ला (Congress MLA Sanjay Shukla) और शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल अपने समर्थकों के साथ कलेक्टर केबिन के सामने धरने पर बैठ गए थे. उन्होंने व्यापारियों की मांगों को लेकर कलेक्टर से मिलने का समय मांगा था, लेकिन कलेक्टर ने उन्हें समय नहीं दिया जिससे नाराज होकर वो उनके केबिन के सामने ही धरने पर बैठ गए. इसके बाद कलेक्टर मनीष सिंह (Manish Singh) की समझाइश से वहां हट तो गए लेकिन फिर रैली निकालकर सोशल डिस्‍टेंसिंग की धज्जियां उड़ा दीं.

कांग्रेस ने निकाली रैली
बहरहाल, कांग्रेस का राजबाड़ा समेत जोन 1 के मार्केट को खोलने के लिए प्रयास जारी है. इसी बीच, आज फिर कांग्रेस के विधायक संजय शुक्ला शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल के साथ राजवाड़ा पर पहुंच गए. उन्होंने राजबाड़ा समेत आसपास के बाजारों को खोलने की मांग को लेकर रैली निकाली और प्रदर्शन किया. सबसे पहले वो देवी अहिल्या माता प्रतिमा पर पहुंचे और वहां माल्यार्पण के बाद उन्होंने व्यापारियों से मिलने के बहाने एक रैली निकाल दी. इस दौरान जिला प्रशासन नगर निगम के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई जिसमें न तो सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा गया और ना ही सभी ने मास्क पहने जिसके बाद से कोरोना के संक्रमण का खतरा बढ़ गया.

जीतू पटवारी, Jitu Patwari

रैली में शामिल कांग्रेसी विधायक जीतू पटवारी और शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल पर भी एफआईआर दर्ज हुई थी.

इससे पहले सोमवार को भी कांग्रेस नेता चिंटू चौकसे ने 1000 समर्थकों के साथ परदेसीपुरा से पाटनीपुरा तक बिना अनुमति के रैली निकाली थी जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ गई थी. इसके बाद प्रशासन ने 300 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी. रैली में शामिल कांग्रेसी विधायक जीतू पटवारी और शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल पर भी एफआईआर दर्ज हुई थी, लेकिन लगता है कांग्रेस को एफआईआर से कोई फर्क नहीं पड़ रहा है. यही वजह है कि वह दिन प्रतिदिन बिना परमिशन के आंदोलन कर रहे हैं. पिछले 3 दिन से इंदौर में कांग्रेस के धरने प्रदर्शन और आंदोलन का दौर जारी है. जबकि पुलिस भी महज खानापूर्ति के लिए एफआईआर दर्ज कर लेती है, क्‍योंकि इसके बाद न तो किसी की गिरफ्तारी होती है न किसी पर कोई कार्यवाही की जाती है. यही वजह है कि नेताओं के हौसले बढ़ते जा रहे हैं और वह लोगों के जीवन को संकट में डाल रहे हैं.

इंदौर में तेज हो रहा कोरोना का कहर
इंदौर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. रोज 100 से ज्यादा मरीज निकल रहे हैं. यही वजह है कि कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 7000 के पार पहुंच गई है. अब तक 7058 कोरोना पॉजिटिव मरीज शहर में मिल चुके हैं. शहर में नए नए इलाकों में कोरोना पैर पसार रहा है ऐसे में ज्यादा एहतियात बरतने की जरूरत है, लेकिन नेता मानने को तैयार नहीं है. हैरानी की बात है कि इन्हीं जनप्रतिनिधियों कंधों पर जन जागरूकता का भी भार है, लेकिन वे अपनी जिम्मेदारी सही से नहीं उठा रहे हैं. यकीनन इसी वजह से इंदौर में कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा है. जबकि इस समय 1800 से ज्यादा एक्टिव केस हैं.




Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close