स्पोर्ट्स

आईपीएल के कमेंट्री पैनल में शामिल होना चाहते हैं संजय मांजरेकर, बीसीसीआई से किया अनुरोध

Image Source : BCCI
Sanjay Manjrekar wants to join IPL commentary panel, requested BCCI

वर्ल्ड कप 2019 में रविंद्र जडेजा के खिलाफ टिप्पणी कर सुर्खियां बटौरने वाले भारत के पूर्व क्रिकेटर और कमेंटेटर संजय मांजरेकर ने एक बार फिर बीसीसीआई से आईपीएल के कमेंट्री पैनल में शामिल करने की अपील की है। लगातार विवादों में फंसे मांजरेकर को बीसीसीआई ने मार्च में हुई साउथ अफ्रीका के खिलाफ सीरीज से अपने कमेंट्री पैनल से बाहर कर दिया था। हालांकि यह सीरीज कोरोनावायरस की वजह से स्थगित कर दी गई थी।

टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार मांजरेकर ने बीसीसीआई को ईमेल लिख कर पैनल में शामिल करने की अपील की है। मांजरेकर ने अपने ईमेल में लिखा ‘बीसीसीआई के आदरणीय सदस्यों, आशा है आप सभी ठीक होंगे। आपको पहले भी मेरी ओर से वह ईमेल मिला होगा जिसमें मैंने कॉमेंटेटर के रूप में अपनी भूमिका के बारे में बताया था। अब जब आईपीएल की तारीखों का ऐलान हो चुका है तो बीसीसीआई.टीवी जल्द ही अपने कॉमेंटरी पैनल का चयन करेगा। आपके द्वारा तय किए गए गाइडलाइंस के तहत काम करने में मुझे बहुत खुशी होगी। आखिरकार हम आपके प्रॉडक्शन के तहत ही तो काम कर रहे हैं। पिछली बार शायद इस मुद्दे को लेकर पूरी तरह स्पष्टता नहीं थी। धन्यवाद, सादर।’

ये भी पढें – रणजी ट्रॉफी मैच के दौरान शुभमन गिल ने दी थी अंपायर को गाली, युवराज सिंह ने अब दी सफाई!

बता दें, बीसीसीआई द्वारा कमेंट्री पेनल से हटाए जाने के बाद मांजरेकर ने ट्वीट कर सफाई दी थी। मांजरेकर ने अपने ट्वीट में लिखा था ‘‘मैंने हमेशा ही कमेंटरी को सम्मान माना है लेकिन कभी मैंने खुद को इसका हकदार नहीं माना।’’ इस 54 साल के पूर्व खिलाड़ी ने कहा, ‘‘यह मेरे नियोक्ता पर निर्भर है कि वे मुझे इस काम के लिये चुनते हैं या नहीं और मैं हमेशा ही इसका सम्मान करूंगा। शायद पिछले कुछ समय से बीसीसीआई मेरे काम से खुश नहीं था। बतौर पेशेवर मैं इसे स्वीकार करता हूं।’’

पिछले साल विश्व कप के दौरान उन्होंने रविंद्र जडेजा को टुकड़ों में प्रदर्शन करना वाला खिलाड़ी कहा था और सौराष्ट्र के इस आल राउंडर को यह बात पसंद नहीं आयी थी जिन्होंने भी मुंबई के इस क्रिकेटर की काबिलियत पर सवाल उठाये थे।

मांजरेकर ने बाद में स्वीकार किया था कि उन्होंने जडेजा पर गैर जरूरी टिप्पणी की। उन्होंने ‘पिंक टेस्ट’ के दौरान भी साथी कमेंटेटर हर्षा भोगले की काबिलियत पर सवाल उठाये क्योंकि वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में नहीं खेले थे जिसके बाद भी उन्हें माफी मांगनी पड़ी थी। 

कोरोना से जंग : Full Coverage




Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close