मध्य प्रदेश

अस्पताल से प्रदेश की पहली वर्चुअल कैबिनेट करेंगे शिवराज, सुबह 9:30 पर ट्रायल तो 11 बजे बैठक 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कोरोना पॉजिटिव हैं और अस्पताल में भर्ती हैं, लेकिन वह लगातार एक्टिव हैं.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) अस्पताल में भर्ती हैं और अपना इलाज करा रहे हैं. लेकिन उनका एक्शन मोड लगातार जारी है. यही वजह है कि प्रदेश में पहली बार वर्चुअल तरीके से कैबिनेट की बैठक होने जा रही है, लिहाजा कई मंत्रियों के लिए यह अनोखा प्रयोग है.

भोपाल. कोरोना संक्रमित (Corona Infected) होने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) अस्पताल में भर्ती हैं और अपना इलाज करा रहे हैं. लेकिन उनका एक्शन मोड लगातार जारी है. इसी कड़ी में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मंगलवार को होने वाली कैबिनेट की बैठक (Cabinet Meeting) भी बंक नहीं करेंगे. सीएम शिवराज ने तय किया है कि कैबिनेट की बैठक मंगलवार को तय समय पर ही होगी, लेकिन यह बैठक मंत्रालय में न होकर वर्चुअल (Virtual) तरीके से होगी. यानी कि कैबिनेट तो होगी लेकिन इसमें सभी मंत्री और खुद मुख्यमंत्री वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (Video Conferencing) के जरिए शामिल होंगे. संभवतः देश में भी यह पहला मौका होगा जब किसी राज्य में कैबिनेट की बैठक वर्चुअल तरीके से हो रही होगी. वर्चुअल कैबिनेट को लेकर अधिकारियों ने तैयारियां पूरी कर ली हैं और सभी मंत्रियों को भी बैठक की जानकारी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होने की भेज दी गई है.

सुबह 9:30 बजे ट्रायल 11 बजे बैठक

अब जबकि प्रदेश में पहली बार वर्चुअल तरीके से कैबिनेट की बैठक होने जा रही है, लिहाजा कई मंत्रियों के लिए यह अनोखा प्रयोग है. यही वजह है कि प्रशासन की ओर से सभी मंत्रियों के लिए पहले ट्रायल की व्यवस्था की गई है. मंगलवार को सुबह 11:00 बजे कैबिनेट की बैठक होनी है, लेकिन उससे पहले सभी मंत्रियों के साथ सुबह 9:30 बजे इसका ट्रायल किया जाएगा. ताकि कैबिनेट की बैठक के दौरान किसी तरह की कोई परेशानी सामने ना आए.

अस्पताल से एक्टिव सीएम शिवराजवैसे तो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कोरोना पॉजिटिव हैं और अस्पताल में भर्ती हैं, लेकिन वह लगातार एक्टिव हैं. अस्पताल में भर्ती होने के अगले दिन ही उन्होंने कोरोना की समीक्षा बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए की थी. सोमवार को भी उनकी बैठकों का दौर जारी रहा. शाम 4:00 बजे उन्होंने लॉ एंड ऑर्डर को लेकर समीक्षा बैठक की. जबकि शाम 4:30 बजे कोरोना की समीक्षा बैठक की. मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ही अधिकारियों को जरूरी निर्देश भी जारी किए. उन्होंने विधायकों सांसदों और अपने शुभचिंतकों से अपील की है कि वह उनसे मिलने अस्पताल न आएं.




Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close