विदेश

अमेरिकी अधिकारी 41 साल बाद ताइवान का करेंगे दौरा, चीन हो सकता है नाराज

अमेरिकी अधिकारी 41 साल बाद ताइवान के दौरे पर जा रहे हैं.

अमेरिकी स्वास्थ्य और मानव सेवा सचिव एलेक्स अजार (Alex Azar) आने वाले दिनों में ताइवान (Taiwan) का दौरा करेंगे. वर्ष 1979 में ताइपेई और वाशिंगटन के बीच राजनयिक संबंध खत्म हो गया था.

वाशिंगटन. अमेरिकी स्वास्थ्य और मानव सेवा सचिव एलेक्स अजार (Alex Azar) आने वाले दिनों में ताइवान (Taiwan) का दौरा करेंगे. वर्ष 1979 में ताइपेई और वाशिंगटन के बीच राजनयिक संबंध खत्म हो गया था. पिछले चार दशकों में किसी अमेरिकी ऑफिशियल की उच्चतम स्तर की यात्रा एक ऐसा कदम होगा जिससे चीन नाराज (China will Angry) हो सकता है जो ताइवान को अपना हिस्सा मानता है. अजर की यात्रा से पहले से खराब चल रहे बीजिंग-वाशिंगटन संबंध और खराब हो सकते हैं. लोकतांत्रिक ताइवान ने चीन के दबाव के बावजूद अमेरिका के इस कदम का स्वागत किया है.

ताइवान दौरे पर आ रहा है अमेरिका का स्वास्थ्य मंत्री

ताइवान के विदेश मंत्रालय ने बताया है कि अपनी इस यात्रा के दौरान अमेरिकी स्वास्थ्य और मानव सेवा सचिव एलेक्स अजार राष्ट्रपति त्साई इंग-वेन से मिलेंगे. इस घटना से चीन का गुस्सा आगे जाकर भड़क भी सकता है. अमेरिका और चीन के बीच उइगर मुस्लिम समुदाय के मानवाधिकारों को लेकर, दक्षिण चीन सागर, व्यापार, प्रौद्योगिकी और कोरोना वायरस महामारी से निपटने के तरीके को लेकर पहले ही तनाव है.

ताइवान में कोरोना के मरीजों की संख्या कमताइवान ने कोरोनावायरस महामारी की रोकथाम में बहुत महत्वपूर्ण काम किया और पूरी दुनिया की प्रशंसा प्राप्त की है. इसके प्रभावी उपायों और महामारी को रोकने के लिए प्रारंभिक स्तर पर ही रोकथाम के चरणों के कारण ताइवान में कोरोना के मरीजों की संख्या कम है. ताइवान में अमेरिकी दूतावास की तरह काम करने वाली ‘अमेरिकी इंस्टीट्यूट इन ताइवान’ ने बताया कि अजार की यात्रा अमेरिका और ताइवान के संबंधों को मजबूत करने और कोविड-19 की महामारी से निपटने के लिए अमेरिका और ताइवान के बीच आपसी सहयोग बढ़ाने का काम करेगी.

ये भी पढ़ें: राम मंदिर शिलान्यास पर नेपाल ने कहा, राम-सीता हमारे संबंधों में प्रेरणा बने रहेंगे

चीन में कोविड-19 से उबरे 90 मरीजों के फेफड़े खराब, चलने में भी आ रही है दिक्कत

अजार ने ताइवान की स्वास्थ्य नीति की प्रशंसा करते हुए एक बयान में कहा कि कोविड -19 महामारी के दौरान और उससे बहुत पहले से ताइवान वैश्विक स्वास्थ्य में पारदर्शिता और सहयोग का एक मॉडल रहा है. अजार ने ताइवान के वैश्विक स्वास्थ्य नेतृत्व के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प की ओर से भी तारीफ की है. पर्यावरण संरक्षण एजेंसी की तत्कालीन प्रमुख जीना मैकार्थी 2014 में ताइवान की यात्रा करने वाली अमेरिकी कैबिनेट स्तर की अंतिम अधिकारी थीं. एजार मैकार्थी की तुलना में तकनीकी रूप से ऊपरी श्रेणी के मंत्री हैं.

अधिकांश देशों की तरह संयुक्त राज्य अमेरिका का ताइवान के साथ कोई औपचारिक राजनयिक संबंध नहीं है. बीजिंग को समर्थन देने के चलते ताइपे नआए 1979 में अमेरिका ने अपना संबंध खत्म कर लिया था. लेकिन अभी भी अमेरिका इसका मुख्य हथियार आपूर्तिकर्ता है और अंतर्राष्ट्रीय मंच पर समर्थन भी दे रहा है.




Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close