विदेश

अमेरिका कोरोना वायरस वैक्सीन पर 2.1 अरब डॉलर और खर्च करेगा

अमेरिका संभावित कोरोना वैक्सीन पर अभी 2.1 अरब डॉलर खर्च करेगा. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

अमेरिका को कोविड-19 के 10 करोड़ प्रयोगात्मक टीकों ((Corona Vaccine) की आपूर्ति की घोषणा दवा कंपनी ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन और सनोफी पैस्टर ने की है. अमेरिकी सरकार इसके लिए करीब 2.1 अरब डॉलर की राशि खर्च करेगी.

लंदन. अमेरिका को कोविड-19 (Covid-19) के 10 करोड़ प्रयोगात्मक टीकों (Corona Vaccine) की आपूर्ति की घोषणा दवा कंपनी ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन (GlaxoSmithKline) और सनोफी पैस्टर (Sanofi Pasteur) ने  की है. अमेरिकी सरकार इसके लिए करीब 2.1 अरब डॉलर की राशि खर्च करेगी. यह खर्च वह इस उम्मीद में करेगी कि इससे कुछ फायदा होगा.

अमेरिका टीकों पर 2.1 अरब डॉलर खर्च करेगा

कंपनियों ने एक बयान में कहा कि अमेरिका 2.1 अरब डॉलर का भुगतान करेगा। ताकि कोविड-19 के संभावित टीके के चिकित्सकीय परीक्षण, विनिर्माण और आपूर्ति के स्तर को बढ़ाया जा सके. इस राशि का एक बड़ा हिस्सा सनोफी के पास जाएगा. अमेरिका के स्वास्थ्य मंत्री एलेक्स एजर ने एक बयान में कहा ऑपरेशन वार्प स्पीड के तहत टीकों का पोर्टफोलियो तैयार किया जा रहा है ताकि साल के अंत तक हमारे पास जल्द से जल्द कम से कम एक सुरक्षित टीका उपलब्ध हो.

अमेरिका लंबे समय में 50 करोड़ टीकों की आपूर्ति कर सकता हैऑपरेशन वार्प स्पीड के तहत अमेरिका के दीर्घावधि में 50 करोड़ टीकों की अतिरिक्त आपूर्ति हासिल करने का विकल्प भी है. इससे पहले ब्रिटिश सरकार ने इस हफ्ते की शुरुआत में कोरोना वायरस के संभावित टीके की 6 करोड़ खुराकों के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए थे. इसकी आपूर्ति अगले साल की पहली छमाही से शुरू की जानी है.

ये भी पढ़ें: उत्तर कोरिया: हिरासत में बंद सैंकड़ों महिलाओं का रेप और अबॉर्शन हुआ- संयुक्त राष्ट्र

10 साल पुराने रेप-मर्डर मामलों में आरोपी पाया गया भारतीय युवक, अगले महीने मिलेगी सजा

पाकिस्तान में प्रदर्शनकारियों पर पुलिस गोलीबारी में तीन की मौत, 30 घायल

ब्रिटेन की ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन और फ्रांस की सनोफी के टीके मौजूदा डीएनए आधारित प्रौद्योगिकी पर विकसित किए गए हैं. सनोफी इस प्रौद्योगिकी का उपयोग अपने मौसमी फ्लू के टीके के विनिर्माण में करती है.

अमेरिका में कोरोनावायरस संक्रमण से कुत्ते की मौत

अमेरिका में कोविड-19 से पीड़ित ‘जर्मन शेफर्ड’ कुत्ते की मौत हो गई है. किसी कुत्ते के कोरोना वायरस से संक्रमित होने का यह पहला पुष्ट मामला था. स्टेटन आइलैंड के रॉबर्ट और एलिसन माहनी ने ‘नेशनल जियोग्राफिक’ को बताया कि उनके सात साल के कुत्ते ‘बडी’ को अप्रैल माह के मध्य में सांस लेने में दिक्कत होने लगी थी और वह कई हफ्ते तक संक्रमण की चपेट में रहा. एक पशु चिकित्सक ने मई में बडी की जांच की जिसमें उसके कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई.




Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close